अनुशासन पर निबंध- DISCIPLINE ESSAY In Hindi

अनुशासन एक ऐसा शब्द है जो एक औसत व्यक्ति को एक महान व्यक्तित्व में बदल देता है. इस दुनिया की सभी महान हस्तियों के बीच एक चीज जो सामान्य है वह है अनुशासन. Discipline व्यवस्थित दिनचर्या और मन पर कठोर नियंत्रण का नाम है.

अनुशासन में रहने वाले लोग मानव जाति के इतिहास में अमर हो चुके हैं. अनुशासन जीवन में सफलता प्राप्त करने में मदद करता है और सभी सफल लोगों की कहानियां पढ़ने से यह समझ में आता है कि उनके जीवन में Discipline का महत्व सबसे ऊपर था.

अनुशासन का अर्थ

अनुशासन शब्द का अर्थ नियमों और व्यवस्थाओं का पालन करना या किसी विशेष स्थान पर दिए गए आचार संहिता का कड़ाई से पालन करना है. व्यावहारिकता में, anushasan का अर्थ दूसरों के नियमों का पालन करना नहीं होता है, वास्तव में इसका मतलब जीवन शैली या कार्य संस्कृति का पालन करना है जो सही है और सही रास्ते पर ले जाने वाला है. अनुशासन केवल सिद्धांतों का पालन करके और नैतिक सीमा के भीतर रहकर प्राप्त किया जा सकता है.

अनुशासन भी दो तरह का होता है, बाहरी अनुशासन और आंतरिक अनुशासन. बाहरी अनुशासन वह anushasan है जो समाज और बड़े लोगों द्वारा सजा के खतरे से प्रेरित होता है, जबकि स्व या आंतरिक अनुशासन वह होता है जिसके लिए नियमों या व्यवस्था के एक सेट का पालन करने के लिए किसी बाहरी बल की आवश्यकता नहीं होती है, यह व्यक्ति स्वेच्छा से और अपने अंतर्मन की आवाज पर करता है. इसे आत्मअनुशासन भी कहते हैं. इस Discipline को श्रेष्ठ अनुशासन माना गया है. Discipline एक व्यक्ति के जीवन में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है और एक व्यक्ति की सफलता में प्रमुख योगदान देता है.

अनुशासन महत्वपूर्ण क्यों है?

किसी व्यक्ति के समग्र विकास में अनुशासन बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. यह बचपन के दौरान भी बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि अनुशासन के अधिकांश अध्याय बचपन के दौरान सिखाए जाते हैं जो किसी व्यक्ति के व्यक्तित्व को बेहतर बनने के लिए प्रेरित करता है. व्यक्ति के व्यक्तिगत जीवन के साथ ही परिवार में भी अनुशासन की महत्वपूर्ण भूमिका होती है क्योंकि Discipline के बिना परिवार अपने सदस्यों पर अपना नियंत्रण खो देता है और बच्चे अपने लक्ष्य की राह से भटक जाते हैं और अपना लक्ष्य खो देते हैं.

स्कूल में अनुशासन के महत्व को कभी नजरअंदाज नहीं किया जा सकता क्योंकि Discipline के बिना एक भी स्कूल नहीं चल सकता. छात्रों को स्कूल में ही नियमों का पालन करना और अपने शिक्षकों के आदेश का पालन करना सिखाया जाता है.

Discipline शिक्षा पाने या कुछ सीखने का पहला कदम है क्योंकि यह व्यक्ति को केंद्रित और आत्मविश्वासी बनाता है. Discipline एक नियंत्रण बल के रूप में कार्य करता है जो एक व्यक्ति को नियंत्रित तरीके से व्यवहार करना सिखाता है. अनुशासित व्यक्ति मुश्किल परिस्थितियों में भी संतुलित तरीके से व्यवहार करता है.

अनुशासन के लाभ

संक्षेप में, हम कह सकते हैं कि अनुशासन वह सीढ़ी है जिसके माध्यम से व्यक्ति अपने जीवन में सफलता की ऊँचाई की ओर चढ़ सकता है. यह उसे अपने लक्ष्य की ओर ध्यान केंद्रित करने में मदद करता है और उसे अपने लक्ष्य से भटकने नहीं देता है. Discipline व्यक्ति को सकारात्मक नियमों और सदाचारों का प्रशिक्षण देकर उसमें पूर्णता लाता है जो उसे समाज में एक सम्मानित व्यक्ति के रूप में स्थापित करते हैं.

पेशेवर जीवन में, एक अनुशासित व्यक्ति वह होता है जिसे सबसे पहले अच्छे अवसर दिए जाते हैं क्योंकि यह माना जाता है कि वह अनुशासनहीन व्यक्ति की तुलना में अधिक जिम्मेदार और अनुशासित तरीके से कार्यों को अंजाम दे सकता है. anushasan किसी व्यक्ति के व्यक्तित्व में एक नया आयाम जोड़ने में मदद करता है और उसे एक अद्वितीय व्यक्ति के रूप में उजागर करता है. वह जहां भी जाता है, वहां लोगों के दिमाग में सकारात्मक प्रभाव छोड़ता है.

निष्कर्ष- anushasan ka mahatva short essay

अनुशासन व्यक्ति में सबसे महत्वपूर्ण गुणों में से एक है. एक अनुशासित व्यक्ति अपने समुदाय और समाज में हमेशा लोगों का सम्मान करता है. anushasan भी एक व्यक्ति को नए अवसरों को प्राप्त करने में मदद करता है क्योंकि एक अनुशासित व्यक्ति को हमेशा बहुत जिम्मेदार और विश्वसनीय माना जाता है.

माता-पिता एक बच्चे में anushasan विकसित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं क्योंकि उन्हें अपने बच्चे का पहला शिक्षक माना जाता है. छात्र जीवन में Discipline भी महत्वपूर्ण है क्योंकि यह समाज की बुराइयों से मुक्त हुए बिना बच्चे को अपने लक्ष्य की ओर जाने में मदद करता है. anushasan सफलता और सम्मान प्राप्त करने की कुंजी है. इसे हम सबको अपने जीवन का हिस्सा बनाना चाहिये.

यह भी पढ़ें:

0 Comments

Add Yours →

Leave a Reply