What is Difference Between Cardiac Arrerst and Heart Attack in hindi? – कार्डियक अरेस्ट और हार्ट अटैक

क्या होता है कार्डियक अरेस्ट और हार्ट अटैक में अंतर

अक्सर लोग कार्डियक अरेस्ट और हार्ट अटैक को एक ही शारीरिक समस्या समझते हैं. इस भ्रम से कई बार मरीज की अवस्था की गंभीरता को समझने में देर कर देते हैं. कार्डियक अरेस्ट और हार्ट अटैक दोनों ही मानव के हृदय से जुड़ी समस्याएं है लेकिन दोनों की प्रकृति और कारणों में भारी अंतर होता है. हार्ट अटैक और कार्डियक अरेस्ट को इस आलेख के माध्यम से आसानी से समझा जा सकता है. इस आलेख को पूरी सावधानी से लिखा गया है लेकिन किसी भी समाधान या सलाह के लिए अपने डॉक्टर से सम्पर्क करें.

क्या होता है हार्ट अटैक?What is a heart attack?

किसी व्यक्ति को हार्ट अटैक तब होता है जब हृदय में आॅक्सीजन युक्त रक्त् पहुंचाने वाली धमनी या artery किसी वजह से अवरूद्ध या block हो जाती है. इस धमनी के block होने से उससे संबंधित हृदय का भाग धीरे—धीरे काम करना बंद कर देता है. लंबे समय तक इलाज न लेने की स्थिति में नुकसान बढ़ सकता है और हार्ट अटैक heart attack का खतरा ज्यादा हो जाता है. हार्ट अटैक heart attack के लक्षण symptoms तुरंत और तेजी से आ सकते हैं लेकिन ज्यादातर मामलों में यह धीरे—धीरे सामने आते हैं और लंबे समय तक बने रहते हैं. कार्डियक अरेस्ट की तरह हार्ट अटैक में दिल की धड़कन बंद नहीं होती है. साथ ही यह पाया गया है कि महिलाओं में हार्ट अटैक heart attack के लक्षण पुरूषों की तुलना में अलग होते हैं.

क्या होता है कार्डियक अरेस्ट?What is cardiac arrest?

ज्यादातर मामलों में कार्डियक अरेस्ट अचानक होता है और बिना किसी चेतावनी के होता है. यह हृदय में एक electrical malfunction की वजह से पैदा होता है. इससे धड़कन अनियमित हो जाती है, जिससे हृदय शरीर के अन्य हिस्सों में सही तरीके से रक्त संचार नहीं कर पाता है. मस्तिष्क में रक्त न पहुंचने के कारण व्यक्ति बेहोश हो जाता है. कार्डियक अरेस्ट में सही उपचार न मिलने पर कुछ सेकण्ड्स या मिनटों में मौत हो जाती है.

हार्ट अटैक और कार्डिक अरेस्ट में क्या सम्बन्ध है?What is the link between Heart attack and Cardiac arrest?

अलग—अलग होने के बाद भी दिल की यह दोनों समस्याएं जुड़ी हुई है. कई मामलों में हार्ट अटैक के बाद कार्डियक अरेस्ट cardiac arrest की समस्या देखी गई है लेकिन ज्यादातर मामलों में हार्ट अटैक के बाद कार्डियक अरेस्ट की समस्या नहीं पाई जाती है. लेकिन ठीक इसके विपरीत सभी कार्डियक अरेस्ट के दौरान हार्ट अटैक होना एक सामान्य बात है. एक अस्वस्थ हृदय को कार्डियक अरेस्ट की संभावना ज्यादा होती है.

क्यों होता है कार्डियक अरेस्ट? What causes cardiac arrests?

असामान्य धड़कन ही कार्डियक अरेस्ट का सबसे बड़ा कारण है. ज्यादातर मामलों में इसे ही कार्डियक अरेस्ट की वजह पाया गया है. इस असामान्य धड़कन को चिकित्सकीय भाषा में ventricular fibrillation कहा जाता है. इस समस्या से अनियमित और तेज electrical impulses की वजह से धमनियों पर अतिरिक्त दबाव आ जाता है और रक्त् को पंप करने की उनकी योग्यता घट जाती है.
यह भी पढ़ें

क्या कार्डियक अरेस्ट को रोकना संभव है?Can sudden cardiac death be prevented?

कार्डियक अरेस्ट की संभावना को घटाकर उसे रोका जा सकता है. इसके लिए ऐसे लोगों को अपनी नियमित हृदय जांच करवाते रहनी चाहिए जिनकी उम्र 40 साल से अधिक हो, जो सिगरेट पीते हो या फिर जिनके परिवार में कार्डियक अरेस्ट की हिस्ट्री हो. साथ ही ऐसे लोग जो हाई ब्लड प्रेशर high blood pressure और डायबिटिज diabetes की समस्या का सामना कर रहे है, उन्हें भी अपने हृदय की नियमित जांच करवाते रहनी चाहिए ताकि आने वाली परेशानियों का पहले ही उपचार किया जा सके.

क्या स्वस्थ व्यक्ति को भी हो सकता है हार्ट अटैक?Can you be healthy and have a heart attack?

एक स्वस्थ व्यक्ति उसी को माना जा सकता है जिसके पास एक स्वस्थ हृदय हो. ऐसे में व्यस्त दिनचर्या के दौरान सभी काम करते हुए व्यक्ति को यह महसूस नहीं होता है कि उसकी धमनियां अवरूद्ध हो चुकी हैं. इसे सिर्फ जांच के माध्यम से ही पता कर सकते हैं. आपका हृदय समय के साथ बूढ़ा होता है और उसकी क्षमता कम हो जाती है. इसलिए स्वस्थ व्यक्ति को भी अपनी स्वास्थ्य जांच करवाते रहनी चाहिए क्योंकि कुछ मामलों में देखा गया ​है कि फिजिकली फिट व्यक्ति भी हार्ट अटैक का शिकार हुए हैं.

क्या हार्ट अटैक् वंशानुगत या परिवार इतिहास पर आधारित होता है?Is sudden cardiac death hereditary?

कई शोधों में यह पता चला है कि बहुत कम उम्र में दिल से संबंधित बीमारी का संबंध वंशानुगत और जीन आधारित होता है. अगर किसी व्यक्ति के परिवार में हार्ट से संबंधित बीमारियों से होने वाले मौतों का आंकड़ा असामान्य है तो उसे अपने हृदय की जांच करवाते रहनी चाहिए.

क्या तनाव से हार्ट अटैक की संभावना बढ़ जाती है?Can stress cause a heart attack in a healthy person?

तनाव हृदय आघात या हार्ट अटैक की एक बड़ी वजह है. तनाव पूर्ण माहौल में हृदय को असामान्य मानसिक परिस्थितियों में काम करना पड़ता है. नींद की कमी और अनियमित जीवन शैली से एड्रेनलिन और कॉलेस्ट्रोल का स्तर भी बढ़ जाता है. कई स्टडीज में सामने आया है कि तनाव की वजह से शरीर में रक्त के थक्के की समस्या पैदा हो जाती है जो हार्ट अटैक की वजह बन जाता है.
यह भी पढ़ें

0 Comments

Add Yours →

Leave a Reply