Festivals & Days of January Month in Hindi

Festivals & Days of January Month
@hindihaat
        इस वर्ष जनवरी January 2018 के महीने Month में नव वर्ष दिवस, स्वामी विवेकानन्द जयंती Swami Vivakanand Jayanti, लोहड़ी Lohri, मकर सक्रांति Makar
Sankranti, वसंत पंचमी Vasant Panchmi, सुभाष चंद्र बोस  जयंती Netaji Subhash Chandra Bose
Jayanti, गणतंत्र दिवस Republic Day, पौष पूनम Posh Punam, तिल चौथ Teel choth, देव नारायण जयंती Devnarayan Jayanti, विश्वकर्मा जयन्ती vishwakarma jayanti, स्वामी रामचरण जयंती swami ram charan jayanti, गुरु रविदास जयंती Guru Ravidas Jayanti सहित अनेको व्रत व  त्यौहार Festivals  मनाए जाएंगे. साथ इस 14 जनवरी 2018 को सूर्य का मकर राशि में प्रवेश होने के कारण इस महीने को धर्म कर्म का महीना
भी कहा जाता है.  

स्वामी विवेकानन्द  जयंती
 Swami Vivakanand Jayanti

Swami Vivakanand Jayanti,Lohri,Makar Sankranti,Vasant Panchemi,Netaji Subhash Chandra Bose Jayanti,Republic Day,PoshPunam,Teel choth,Devnarayan Jayanti,
        विवेकानन्द जयंती 12 जनवरी 2018 को हैं. इस दिन को पूरे विश्व में राष्ट्रीय  युवा दिवस के रूप में भी मनाया जाता है. समाज के प्रेरणा श्रोत और युवा दिलों
की धड़कन स्वामी विवेकानन्द का जन्म 12  जनवरी 1863 के दिन कलकत्ता में हुआ था. इस दिन जगह -जगह  विवेकानन्द जी मूर्ति पर पुष्पांजलि
के साथ ही विचार गोष्ठी, विभिन्न प्रतियोगिताओ  के साथ ढेरों आयोजन होते है। विवेकानंद जी के  विचारों को पढ़ने के लिए  क्लिक करे।


(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});

सुभाष चंद्र बोस
जयंती
Netaji
Subhash Chandra Bose Jayanti
        नेताजी सुभाषचंद्र बोस की जयंती 23 जनवरी के दिन होती है. नेता जी का जन्म 23 जनवरी 1897 को उड़ीसा में कटक के एक बंगाली परिवार में हुआ था. नेता जी का भारत की आजादी
में महत्वपूर्ण योगदान था. ‘तुम मुझे खून दो मैं तुम्हे आजादी दूंगा’ नेता जी का प्रसिद्ध नारा  था. देश की आज़ादी की लड़ाई के लिया नेताजी ने 1943 में आज़ाद हिन्द फ़ौज का गठन किया था.  नेता जी सुभाष चंद्र बोस की मृत्यु  को लेकर आज भी एक मत नहीं है. इस
दिन जगह -जगह नेताजी की स्मृति में कई आयोजन होते है. नेताजी सुभाष
चंद्र बोस और INA के रहस्य की अधिक जानकारी के लिया पढ़े।


(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});

  लोहड़ी Lohri


         लोहड़ी 13 जनवरी को मनायी जाती है। मूलत: पंजाब और हरियाणा
में फसलों के आगमन और शरद ऋतू के समापन के दिन लोहड़ी का त्यौहार पूरे धूम-धाम से
मनाया जाता है. इस दिन शाम के समय अग्नि जलाते जाती है और लोग उसके चारों ओर नाचते-गाते हैं. आग मे
रेवड़ी, खील, मक्का की आहुति देते हैं. ऐसी मान्यता है की जिस घर में नई शादी हुई हो या
बच्चा हुआ हो उन्हें विशेष तौर पर बधाई दी जाती है. पिछले कुछ सालों से इस त्यौहार
को देश भर में मनाया जाने लगा है।


(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});

मकर सक्रांति Makar sankranti
         हर साल 14 जनवरी को
मकर सक्रांति का त्योहार आता है. इस दिन सूर्य देव दक्षिणायन
की जगह उत्तरायण होते है. जिसके
कारण  सूर्य देव धनु राशि से मकर
राशि में  प्रवेश करते है. इस दिन काफी
संख्या में लोग गंगा स्नान और धर्म पुण्य के काम करते है. कई शहरो में इस दिन
पतंगबाजी भी होती है. साथ ही मकर सक्रांति के दिन तिल से बने लडडु, पकोड़े और फिन्नीयां इस दिन बड़े ही चाव से खायी जाता है।
पोंगल pongal
         पोंगल का त्यौहार भी 14 जनवरी को मनाया जाता है। ये पर्व मूल रूप से दक्षिण भारत और विशेष कर तमिलनाडु में
मनाया जाता है. पोंगल का पर्व  हर साल 14  जनवरी में
अच्छी फसल के धन्यवाद के रूप में मनाते हैं.  इस दिन
भगवान सूर्यदेव को जो प्रसाद भोग लगाया जाता है उसे पोंगल कहा जाता है, इस कारण त्यौहार का नाम पोंगल पड़ा. इस दिन दक्षिण के मंदिरों को विशेष रूप से सजाया
जाता है. लोग शाम के समय फेरी निकालते है और पारंपरिक गीत गाये जाते है.
बसंत पंचमी  Vasant Panchami
        साल 2018 में 22 जनवरी वसंत पंचमी के दिन विद्या और वाणी की देवी माँ
सरस्वती की पूजा बहुत शुभ होती है. बसंत पंचमी के दिन को माँ सरस्वती के जन्मदिन
के रूप में भी मनाया जाता है.  हिंदी पंचाग के अनुसार माघ मास की पंचमी के दिन
वसंत पंचमी का पर्व हर्षोउल्लास से मनाया जाता है इसी दिन ऋतू चक्र में भी
परिवर्तन होता है. इस दिन से सरसो के पीले फूलो वाली फसल खेतो में लहलहाने लगती है, साथ ही इस दिन को सरस्वती पंचमी के रूप में भी
जाना जाता है. इस दिन पीले रंग के कपड़े पहनना भी शुभ माना जाता है
गणतंत्र दिवस Republic Day (India)

Vasant Panchemi,Netaji Subhash Chandra Bose Jayanti,Republic Day


        गणतंत्र दिवस 26 जनवरी, भारत के प्रमुख त्योहार में से एक है. इसी दिन यानि 26 जनवरी 1950
 से अपने देश का संविधान लागू हुआ था. इस दिन भारत भर में
जगह-जगह देश भक्ति और सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन होता है. गणतंत्र दिवस के
पावन पर्व पर देश के राष्ट्रपति दिल्ली के लाल किले पर तिरंगा लहराता है और देश को
संबोधित करते है.

पढ़िए नए साल पर हमारी खास पेशकशः

स्मार्टफोन की बैटरी लाइफ कैसे बढ़ाएं

Swami Vivakanand Jayanti,Lohri,Makar Sankranti,Vasant Panchemi,Netaji Subhash Chandra Bose Jayanti,Republic Day,PoshPunam,Teel choth,Devnarayan Jayanti,vishwakarma jayanti, swami ram charan jayanti,Guru Ravidas Jayanti,

Leave a Reply