cucumber benefits in hindi-खीरे के औषधीय गुण

गर्मियों में वरदान है खीरा

खीरा हरे सब पीरा. हमारे गांवों की यह प्रचलित कहावत खीरे के औषधीय गुण बताती है. हमारे पूर्वजों और आयुर्वेद ने खीरे के औषधीय गुणों को बहुत पहले पहचान लिया था. अच्छी बात यह है कि खीरा सिर्फ गुणों की खान ही नहीं है बल्कि स्वाद से भरपूर भी है. यही वजह है कि बच्चे से लेकर बूढ़े तक सभी खीरे को बहुत चाव से खाते हैं. खीरा पहले गर्मियों में बहुतायत से मिलता था लेकिन अब यह लगभग पूरे वर्ष उपलब्ध रहता है. हम इस आलेख में खीरे के औषधीय गुणों के साथ ही उससे बनने वाले व्यंजन यानी खीरे का रायता बनाना भी बतायेंगे.

खीरे के पौष्टिक तत्व

खीरे में टारटरेड एसिड, कार्बोहाइड्रेटस के साथ ही 96 प्रतिशत पानी होता है. साथ ही इसमें विटामिन बी, बी 2, बी 3-5-6, विटामिन सी, कैल्शियम, आयरन, मैगनीशियम, फास्फोरेस, जिंक व एंटीआकसीडेंट भरपूर मात्रा में पाये जाते हैं.

खीरे के सेवन से होने वाले फायदे

हैल्थ एक्सपर्ट इसे सर्वोत्त्म आहार मानते हैं. हम यहां खीरे से होने वाले फायदे आपको बता रहे हैं ताकि आप उसे अपने नियमित आहार का हिस्सा बनाकर उससे सभी लाभ प्राप्त कर सके. खीरे के सेवन के बारे में एक बात अवश्य याद रखिये कि खीरे का सेवन दिन में करना चाहिये न कि रात में.

खीरे में उपस्थित टारटरेड एसिड शरीर में मौजूद कार्बोहाइड्रेट को ऊर्जा में परिवर्तित करने में सहायता करता है, जिससे कार्बोहाइड्रेट कोेशिकाओं में फैट के रूप में जमा नहीं हो पाता है.

खीरा हमारा अनेक रोगों से बचाव करता है. इसमें मौजूद पानी प्राकृतिक रूप से शुद्ध होता है. यह रोग प्रतिरोधी तंत्र को दुरस्त रखने में मदद करता है.

नियमित खीरा खाने से शरीर के विषैले तत्वों को बाहर निकालते है. इसमें कैलोरी काफी कम होने के कारण डायटिंग कर रहे लोगों के लिए तो यह वरदान है क्योंकि इसके सेवन से वजन नहीं बढ़़ता है. यह खाना पचानें में फायदेमंद होने से वजन घटाता भी है.

खीरे के औषधीय गुण

खीरे में मौजूद ‘सीलीशिया’ बालों व नाखूनों को मजबूत व चमकदार बनाता है. बाल तेजी से बढ़ते हैं.

सुबह उठने पर सिर में दर्द या खुमारी की शिकायत होने पर सोने से पहले खीरा खाएं. इसमें विटामिन बी, शुगर और इलेक्ट्रोलाइट होते है जो सिर मे दर्द तथा खुमारी से उबरने में मदद करते हैं.

खीरे में उपस्थित फाइटो कैमिकल तत्व से मुंह की दुर्गंध कम होती है.

खीरा खाने से ‘एसिडिटी’और हार्टबर्न से राहत मिलती है.

खीरे का रस पाचन क्रिया तेज करता है और शरीर में ब्लड शुगर लेवल कम करने में मदद करता है.

कैसे बनायें स्वादिष्ट खीरे का रायता?

खीरे का रायता हम सभी को पसन्द होता है. आम तौर पर खीरे का रायता बनाने के लिए दो तरह की विधियों का प्रयोग होता है. दोनों विधियों में फर्क यह है कि एक विधि में रायता कच्चा उपयोग में लाया जाता है जबकि दूसरी विधि में खीरे को उबाल कर प्रयोग में लिया जाता है. ऐसे लोग जिनके दांत नहीं होते है या फिर पाचन में समस्या है, उनके लिये उबले हुए खीरे का रायता उपयोग में लेना अच्छा रहता है.

खीरे का रायता बनाने की सामग्री

दही— 1 पाव

सेंधा नमक— स्वादानुसार

लाल मिर्च— चौथाई चम्मच

सूखा पुदिना— एक चम्मच

खीरा— एक पाव

खीरे का रायता बनाने की विधि

खीरे का रायता बनाने के लिए ताजा दही ले जो खट्टा न हुआ हो. इसके बाद उसमें सेंधा नमक, लाल मिर्च और खीरा मिलाकर एक घंटे तक छोड़ दे. उसके बाद हो सके तो उसे अपने फ्रिज में रखे न कि फ्रिजर में. परोसने से पहले सूखा पुदिना उसमें डालकर परोसे. इससे गर्मी के दिनों लू लगने की समस्या से भी निजात मिलेगी. अगर लाल टमाटर के मोटे हिस्सों को बीज हटाकर डाले तो स्वाद को बढ़ाने में मदद मिलेगी.

यह भी पढ़ें:

यूरीन इन्फेक्शन का घरेलू उपचार

स्मार्ट फोन पर बैक्टीरिया कहीं बना न दें आपको बीमार

कार्डियक अरेस्ट और हार्ट अटैक में अंतर

सांस की बदबू दूर करने के उपाय

खर्राटों से कैसे छुटकारा पाएं

0 Comments

Add Yours →

Leave a Reply