स्वच्छ भारत अभियान स्लोगन – SWACHH BHARAT ABHIYAN SLOGAN HINDI

स्वच्छ भारत मिशन, जिसे स्वच्छ भारत योजना के रूप में भी जाना जाता है, 2 अक्टूबर 2014 को पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू किया गया एक अभियान है, जिसका उद्देश्य 2 अक्टूबर 2019 तक भारत को स्वच्छ और खुले में शौच मुक्त बनाना है. 2 अक्टूबर 2019 को महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती है. यह अभियान भारत को साफ—सुथरा बनाने में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है. इस सफाई अभियान में शौचालय, स्वच्छ सड़क और कचरा प्रबंधन जैसी बुनियादी सुविधाएं शामिल की गई हैं.

स्वच्छ भारत अभियान स्लोगन इन हिंदी

इस अभियान के शुरू होने से पहले तक करीब साढ़े पांच करोड़ लोग भारत में खुले में शौच करते थे, जो दुनिया में सबसे अधिक है. इस मिशन का मुख्य उद्देश्य लोगों में स्वच्छता को बढ़ावा देना और पूरी दुनिया में भारत की बेहतर छवि बनाना भी है. शुरुआत से ही पूरे भारत की कई प्रसिद्ध हस्तियों ने स्वच्छ भारत मिशन में भाग लिया और इसे जनता के बीच लोकप्रिय बनाने की कोशिश की. भारत सरकार ने इसके लिए स्वच्छता के एम्बेसडर भी नियुक्त किये और लोगों को प्रेरित करने के लिए इस क्षेत्र में अच्छा काम कर रहे लोगों को सम्मानित करने का काम भी किया.

SWACHH BHARAT ABHIYAN पर SLOGANS

हमने यहां स्वच्छ भारत अभियान पर कुछ प्रेरक, प्रभावी और आकर्षक नारे दिए हैं, जिनका उपयोग आप अपने स्कूल, समाज में या अपने भाषणों और निबंधों आदि में कर सकते हैं. स्वच्छ भारत मिशन के इन नारों का उपयोग करके आप दूसरों को स्वच्छता के लिए प्रेरित कर सकते हैं. आप स्वच्छता के बारे में लोगों में जागरूकता बढ़ाने के लिए इन नारों का उपयोग भी कर सकते हैं.

स्वच्छ भारत मिशन के स्लोगन

स्वच्छ राष्ट्र — स्वस्थ राष्ट्र

सफाई शुरू करो — गंदगी बंद करो.

यह मत सोचो कि दूसरे आपकी गंदगी साफ करेंगे, अपनी गंदगी को स्वयं साफ करो.

स्वच्छ भारत मिशन को एक जुनून बनाएं.

झाड़ू लेने में संकोच न करें — गंदगी फैलाने में शर्म महसूस करें.

एक झाड़ू उधार लें ताकि आपको स्वस्थ कल के लिए उधार न लेना पड़े.

एक स्वस्थ भविष्य के लिए अपने अहंकार को छोड़े और अपने देश को साफ करें.

यह आत्म परीक्षा का समय है, खुले में शौच को न कहें.

खुले में शौच न करें और करने दें.

चाहे आप ड्राइवर हों या पायलट; शौचालय की सफाई में कोई शर्म नहीं.

गंदगी की शिकायत न करें, गंदगी की शिकायत को दूर करें.

पहले स्वच्छ और फिर स्वस्थ का मंत्र एक दिन आपको समृद्ध बना देगा.

एक साफ देश, उसके सभ्य नागरिको के लिए गौरव का प्रतीक होता है.

हम सुधरेंगे, जग सुधरेगा. हम स्वच्छ होंगे तो देश स्वच्छ होगा.

शर्म करो! शर्म की बात है! खुले में शौच!

चलो यह हमारा प्रण है; हम भारत को खुले में शौच मुक्त बनायेंगे.

हम अपने देश को हमेशा के लिए स्वच्छ रखने की शपथ लें.

पीएम मोदी ने स्वच्छ भारत मिशन, स्वच्छता के साथ स्वच्छ भारत की शुरुआत है.

हम अपने देश को सुंदर बना सकते हैं; स्वच्छ भारत मिशन में भाग लेकर हम कुछ सार्थक हासिल कर सकते हैं.

स्वच्छता हमें आंतरिक शांति प्रदान कर सकती है, स्वच्छ भारत मिशन एक ऐसी चीज है जिसकी हमें आवश्यकता है.

 

यह भी पढ़ें:

परम्परागत कृषि विकास योजना की जानकारी

आयुष्‍मान भारत योजना के बारे में सम्पूर्ण जानकारी

राष्‍ट्रीय आपदा प्रबंधन योजना

राष्ट्रीय पोषण मिशन के बारे में जानकारी

0 Comments

Add Yours →

Leave a Reply