Me too Campaign in Hindi-History, facts and #Metoo Stories-#Metoo कैम्पेन का इतिहास और भारत में #Metoo कैम्पेन

#metoo essay- #Metoo कैम्पेन का इतिहास और भारत में #Metoo कैम्पेन

#Metoo कैम्पेन आज भारत में छाया हुआ है. फेसबुक, ट्वीटर हो या अखबार और टेलीविजन चैनल. महिलाएं खुल कर सामने आ रही हैं और अपने साथ हुए यौन उत्पीड़न व लैंगिक भेदभाव के मामलों को उजागर कर रही हैं. फिल्म अभिनेत्री तनुश्री दत्ता, लेखिका विंता नंदा, अदाकारा संध्या मृदुल और कई महिला पत्रकार जैसे प्रिया रमानी आदि ने अपने साथ हुई घटनाओं को दुनिया के सामने रखने का साहसिक काम किया है.

#metoo in bollywood

मी टू कैम्पेन की आंच केन्द्रीय मंत्री एमजे अकबर, अभिनेता आलोक नाथ, नाना पाटेकर गायक कैलाश खेर और निर्देशक विकास बहल तक पहुंच रही है. हालांकि आरोपों की परख करना अदालत का काम है लेकिन इनको समाज के विभिन्न वर्गों से जो समर्थन मिल रहा है, वह इस बात का प्रतीक है कि नारी समानता को लेकर भारत अब पहले से ज्यादा मुखर हो गया है.

क्या है #Metoo अभियान-me too hindi meaning

#Metoo अभियान सोशल को ध्यान में रखकर शुरू किया गया एक आंदोलन है जिसमें कोई महिला अपने साथ हुए यौन उत्पीड़न या लैंगिक भेदभाव की घटना को सोशल मीडिया पर #Metoo के साथ शेयर करती है और ऐसे लोगों का पर्दाफाश करती है जो अब तक शराफत का मुखौटा पहनकर समाज में इज्जतदार जीवन जी रहे थे। इस हैशटेग से वह दुनिया की उन सभी औरतों के साथ अपने होने की भी पुष्टि करती है, जिसका कभी न कभी यौन उत्पीड़न हुआ है या फिर उसके साथ एक महिला होने के नाते दुर्व्यवहार किया गया है. me too ka hindi meaning

#Metoo अभियान की इतिहास- History of Me too Movement Founder

#Metoo अभियान की शुरूआत की बात करे तो यह बात 2006 तक जाती है. जब अमेरिका में एक सामाजिक कार्यकर्ता तराना बर्क Tarana Burke ने पहली बार यौन उत्पीड़ित महिलाओं की तकलीफ को सामने लाने के लिए इस शब्दावली का उपयोग किया. इसके करीब एक दशक बाद 5 अक्टूबर 2017 को न्यूयाॅर्क टाइम्स की दो पत्रकारों जोडी कैंटर Jodi Kantor और मेगन तोहे Megan Twohey ने अपने लेख के माध्यम से अमरीकी फिल्म प्रोड्यूसर हार्वे वाइंसटाइन Harvey Weinstein द्वारा यौन उत्पीड़न का आरोप लगाने वाली महिलाओं को मुंह बंद रखने के लिए पैसा देने का खुलासा किया. 

इसके कुछ ही समय बाद 15 अक्टूबर, 2017 को एलिसा मिलानो Alyssa Milano ने ट्वीट किया कि ‘अगर आपका भी यौन शोषण हुआ है तो इस ट्वीट के जवाब में #Metoo लिखें.’ इसके 2 घंटे के भीतर ही 2 लाख से अधिक लोगों ने अपना रिएक्शन दे दिया. एक दिन के भीतर ट्वीटर पर यह संख्या बढ़कर 5 लाख से भी अधिक हो गई.

उनकी इस पहल को अमेरिका में ट्वीटर पर भरपूर समर्थन मिला और जेनिफर लाॅरेंस, एश्ले जड, ग्वेनेथ पेल्ट्रो और उमा थुरमन जैसी कई सेलिब्रिटिज ने #Metoo के साथ ट्वीटर और फेसबुक पर अपने साथ हुए यौन दुर्व्यवहार के मामलों को उजागर किया.

इसके साथ ही पूरी दुनिया में हर आयु वर्ग, हर प्रोफेषन और तबके की महिलाओं ने ब्लाॅग, ट्वीट, कोट्स, किताबों, कविताओं और आलेखों के माध्यम से अपने #Metoo अनुभव को दुनिया के साथ साझा किया. 

इस पहल को दुनिया भर में मिले समर्थन को देखते हुए टाइम मैगजीन ने अपनी चुप्पी तोड़ने वाली इन असंख्य  महिलाओं Silence Breakers को वर्ष 2017 के लिए पर्सन्स आफ द ईयर चुना है. यह आंदोलन आज 85 से ज्यादा देशों में फैल चुका है. यूरोपीय संसद में #Metoo भी से जुड़े मामले सामने आने पर इस विषय पर वहां एक विशेष सेशन बुलाया गया. #Metoo की वजह से कई प्रतिष्ठित पुरूषों को अपने पद छोड़ने पड़े और उन्हें सजा तक हुई है.

#Metoo कैम्पेन और भारत – #metoo stories in hindi

#Metoo से भारत भी अछूता नहीं रहा है. भारत में #Metoo की शुरूआत से पहले यौन उत्पीड़न के अपराधों को ईव टीजिंग का नाम देकर हल्का करने का प्रयास किया जाता था. #Metoo अभियान के कारण भारत में महिलाएं कार्यस्थल पर उनके अधिकारों और स्वयं की सुरक्षा, गरिमा तथा आत्मसम्मान को लेकर सजग हुई हैं और उन्हें इन विषयों पर खुलकर बोलने का साहस मिला है. 

me too in hindi cinema

इस कैम्पेन को भारत में बड़ी कामयाबी तब मिली जब अभिनेत्री तनुश्री दत्ता ने नाना पाटेकर पर यौन उत्पीड़न का इल्जाम लगाया. उन्होंने 10 साल पुराने मामले को सामने लाने का काम किया है जब उन्होंने हिंदी फिल्म हाॅर्न, ओके, प्लीज में एक आइटम सांग के दौरान नाना पाटेकर के साथ काम किया था. हालांकि नाना पाटेकर ने सभी आरोपों को सिरे से खारिज करते हुए तनुश्री दत्ता को कानूनी नोटिस भेजा है. तनुश्री दत्ता ने भी पुलिस थाने में नाना पाटेकर के खिलाफ षिकायत दर्ज करवा दी है.

#Metoo  अभियान में भारत में दूसरा सबसे ज्यादा चर्चित मामला अभिनेता आलोक नाथ और लेखिका विंता नंदा का है. विंता नंदा ने आलोक नाथ पर 20 साल पहले बलात्कार और दुष्कर्म करने का आरोप लगाया है. उन्होंने फेसबुक पर एक आलेख लिखकर उस घटना का जिक्र किया है जब आलोक नाथ ने उनके साथ यौन दुर्व्यवहार किया था. 

#Metoo अभियान के कई और चर्चित मामलों में गायिका सोना महापात्रा ने गायक कैलाश खेर, प्रिया रमानी सहित कई और महिला पत्रकारो ने केन्द्रीय मंत्री एमजे अकबर, लेखक चेतन भगत पर एक अन्य महिला ने, विकास बहल पर विक्रमादित्य मोटवानी और अनुराग कश्यप ने और लेखक वरूण ग्रोवर पर एक अनाम लड़की ने आरोप लगाए हैं. समय के साथ भारत के कई और चर्चित चेहरे इस #Metoo कैम्पेन में सामने आ सकते हैं.

भारत में यौन अपराधों की क्या है सजा?

भारतीय संसद में मंजूरी के बाद वर्ष 2013 में कार्यस्थल पर यौन उत्पीड़न से महिलाओं का संरक्षण (रोकथाम, निषेध और निवारण) अधिनियम पारित हुआ, जिसके बाद कार्यस्थल पर  यौन उत्पीड़न को रोकने के लिए कानून बनाया गया. इस कानून के अनुसार आईपीसी धारा 354ए के अंर्तगत अपराध की गंभीरता को देखते हुए 5 साल तक की सजा हो सकती है.

Tags: #metoo in hindi, me too campaign in hindi, me too hindi meaning, me too in hindi, me too in hindi cinema, me too ka hindi arth, me too ka hindi meaning

यह भी पढ़े:

राफेल विमान: खासियत, डील और घोटाला

5 यूरोपिय देश जहां की नागरिकता खरीदी जा सकती है

Leave a Reply