Top 5 Monsoon Tourism Destinations of India in Hindi – टॉप-5 मानसून टूरिज्म डेस्टिनेशन

टॉप-5 मानसून टूरिज्म डेस्टिनेशन

पूरे भारत देश में मानसून के दौरान हरियाली छाई रहती है और कई पर्यटक स्थल पर्यटकों को आकर्षित करते हैं। सैर-सपाटे के लिए मानसून के चार महीने जून, जुलाई, अगस्त और सितम्बर सबसे बेहतर हैं। भारतवर्ष के अलग – अलग हिस्सों में कई महत्त्वपूर्ण स्थान Monsoon Tourism Destination हैं जहां आप वीकेंड से लेकर लम्बी छुट्टियां बिता सकते हैं। तो आइये जानते हैं मानसून में सैर-सपाटे
के लिए भारत के टॉप-5 डेस्टिनेशन के बारे में।

मेघालय: बादलों का डेरा

Meghalaya: Abode of Clouds

जैसा कि नाम से ही प्रतीत होता है, यह प्रांत बादलों का घर है जहां की प्राकृतिक छटाएं पर्यटकों को खींच लाती हैं। भारत के पूर्वोत्तर क्षेत्र में बसे इस राज्य में कई ऐसे स्थान हैं जहां आप सप्ताह भर तक आराम से मानसून का लुत्फ उठा सकते हैं। 
दुनियाभर में इस राज्य की पहचान सबसे नम स्थानों में की जाती है। यहां का चेरापूंजी Cherapunji भारत का सबसे अधिक वर्षा वाला स्थान है। वर्षा वनों Rain Forest में पेड़ों की जड़ों और शाखाओं से बने प्राकृतिक पुल सबसे अधिक आकर्षित करते हैं जिन्हें लिविंग रूट ब्रिज Living Root Bridges भी कहते हैं।
जब भी मेघालय जाएं तो चेरापूंजी Cherrapunji और मावलिनोंग Mawlynnong के डबल डेकर लिविंग रूट ब्रिज जरूर देखें। मावलीनोंग से पूर्व में लगभग एक घंटे की दूरी पर स्थित सीमावर्ती कस्बा डावकी Dawki भी देखने लायक है जो प्राचीन उमनगोत नदी Umngot River और इसकी हरित आभा के कारण प्रसिद्ध है। इसके अलावा मे मेघालय में कई दर्शनीय और पर्यटक स्थल हैं जो निम्न प्रकार हैं—

यह भी पढ़ें

  • माफलांग के जंगल (Mawphlang Sacred Forest)
  • लेटलम घाटी (Laitlum Canyon)
  • मेघालय की गुफाएं (Caves of Meghalaya)
  • नारतियांग के शिलाखम्भ (Monoliths of Nartiang)
  • गारो की पहाड़ियां (Garo Hills)
  • शिलांग का पारम्परिक बाजार (Iewduh Bara Bazaar)
केरल: मालाबार की गोद में

Kerala: Lapel of Malabar

केरल की खूबसूरती से रूबरू होने के लिए मानसून सीजन सबसे अच्छा समय है। वहीं आयुर्वेदिक उपचार के लिए भी यह सबसे बढ़िया मौसम होता है। क्योंकि वर्षा ऋतु में शरीर के छिद्र खुलते हैं और उपचार की जड़ी-बूटियों का रस आसानी से शरीर में समा जाता है। मालाबार पर्वतश्रेणी की खूबसूरती निहारने के लिए यह सबसे बढ़िया मौसम है। इस सीजन में Kerala Tourism Development Corporation केरल पर्यटनविकास निगम के डिस्काउंट पैकेज का लाभ भी उठाया जा सकता है।  मानसून में केरल जाने का एक लाभ यह भी है कि आप पेरियार नेशनल पार्क Periyar National Park घूम सकते हैं जबकि मानसून के दौरान देशभर के लगभग दूसरे नेशनल पार्क बंद कर दिए जाते हैं। ओणम के त्यौहार का आनंद भी इस मौसम में लिया जा सकता है। केरल के प्रमुख पर्यटक स्थल ये हैं—

यह भी पढ़ें

  • पद्मनाभस्वामी मंदिर (Padmanabhaswamy Temple)
  • अथिरापल्ली वॉटरफाल (Athirapally Waterfalls)
  • मुन्नार गार्डन (Munnar Gardens)
  • थिरुनेल्ली मंदिर (Thirunelli Temple)
  • अगस्त्य माला (Agastya mala Peak)
  • कासरगोड का बेकल किला (Bekal Fort, Kasaragod)
  • चेम्ब्रा की चोटी (Chembra Peak, kalpetta)
  • पूवार द्वीप (Poovar Island)
पश्चिमी घाट की पहाड़ियां

Western Ghat Mountains

मानसून में घूमने के लिए पश्विमी घाट की पहाड़ियां भी बहुत खूबसूरत डेस्टिनेशन हैं। वर्षा ऋतु में यहां की नैसर्गिक सुन्दरता पूरी तरह निखर जाती है। यह पहाड़ियां भारतीय पश्चिमी तट के सहारे-सहारे गुजरात बॉर्डर से पूरे महाराष्ट्र में तमिलनाडु तक फैली हैं। पश्चिम घाट की पहाड़ियां यूनेस्को UNESCO की वर्ल्ड हेरिटेज साइट World Heritage Site सूची में शामिल हैं। इन पहाड़ियों में निम्न जगहों पर जाया जा सकता है—

यह भी पढ़ें

  • अगुम्बे (Agumbe, Karnataka)
  • कुन्नूर (Coonoor, Tamil Nadu) 
  • डांडेली (Dandeli, Karnataka)
  • कलपट्टा (Kalpatta, Kerala)
  • वालपराई (Valparai, Tamil Nadu)
  • महाबलेश्वर (Mahabaleshwar,Maharashtra)
  • मूलम नेशनल पार्क (Mollem National Park, Goa)
बूंदी: क्लासिक राजस्थान

Bundi: Classic Rajasthan

बूंदी दक्षिणी राजस्थान का ही नहीं बल्कि पूरे भारत का प्रसिद्ध क्लासिक टूरिस्म डेस्टिनेशन Classic Tourism Destination है। लम्बी छुट्टियों की बजाय वीकेंड या एक-दो दिन के आराम के लिए यह
बेहतर स्थान है। अगस्त के महीने में बूंदी जाने वाले पर्यटक यहां के प्रसिद्ध तीज फेस्टिवल में शामिल हो सकते हैं। वहीं नवम्बर-दिसम्बर माह में जाने वाले पर्यटक यहां बूंदी उत्सव Bundi Festival का आनंद ले सकते हैं।
बूंदी अपनी प्राकृतिक छटा के अलावा यहां के महल, किले, चित्रकारी, बावड़ियों और मंदिरों के लिए भी जाना जाता है। यहां करीब 60 बावड़ियां हैं। राजस्थान की राजधानी जयपुर से यहां सड़क मार्ग से लगभग साढ़े तीन घंटे में पहुंचा जा सकता है। यहां के प्रमुख पर्यटक स्थल निम्न हैं—

यह भी पढ़ें

  • रामगढ़ वन्यजीव अभयारण्य (Ramgarh wildlife Sanctuary)
  • जैत सागर झील (Jait Sagar Lake)
  • नवल सागर (Naval Sagar)
  • तारागढ़ किला (Taragarh Fort)
  • राणीजी की बावड़ी (Raniji ki Bawdi)
  • चौरासी खम्भों की छतरी (Cenotaph of 84 Pillers)
  • गढ़ महल (Garh Palace)
  • उम्मेद महल और चित्रशाला (Chitrashala and Ummed Palace)
उत्तराखंड: फूलों की घाटी राष्ट्रीय उद्यान

Valley of Flowers National Park

उत्तराखंड के गढ़वाल क्षेत्र की मनोहारी फूलों की घाटी नेशनल पार्क Valley of Flowers National Park उत्तरी भारत के सबसे प्रसिद्ध पर्यटक स्थलों में शुमार है। मानसून में इस घाटी में फूलों की बहार आ जाती है। हिमालय की इस घाटी में लगभग 300 प्रकार के फूल पाये जाते हैं। यह घाटी पर्यटकों के लिए अप्रैल से अक्टूबर महीने में ही खोली जाती है।
कई बार फूलों की घाटी के बैकग्राउंड में बर्फ से ढंके पहाड़ पर्यटकों को ऐसा मोह लेते हैं कि कोई नजरें हटा नहीं चाहे। सितम्बर माह में खिलने वाले ब्रह्मकमल इस घाटी के प्रमुख आकर्षणों में से एक है। यह घाटी एक प्रकार से नंदा देवी नेशनल पार्क का ही एक हिस्सा है। प्रकृति प्रेमियों और हाइकिंग Hiking के शौकीन लोगों के लिए फूलों की घाटी नेशनल पार्क एक बेहतरीन जगह है। यहां पहुंचने के लिए करीब 15 किलोमीटर लम्बा ट्रेक है। यहां के अन्य प्रमुख टूरिस्ट स्पॉट निम्न प्रकार हैं—
  • पुष्पावती नदी (Pushpawati River)
  • नृसिंह मंदिर (Narsingh Temple)
  • नंदा देवी नेशनल पार्क (Nanda Devi National Park)
  • लक्ष्मण गंगा नदी (Lakshman Ganga River)
  • भीम पुल (Bheem Bridge)
  • गोविंद घाट (Govindghat)
  • हेमकुण्ड साहिब (Sri Hemkunt Sahib)

0 Comments

Add Yours →

Leave a Reply